×
×

आरोग्यं आयुर्वेद पीठ

स्वास्थ - समानता - समृद्धि

परिचय

आरोग्यम पीठ भारत की स्वास्थ शिक्षा और आर्थिक समृद्दि का द्योतक है। यह एक स्वतंत्र सामाजिक निकाय है, जिसकी स्थापना 2005 में हुई। पीठ ने प्रत्येक भारतीय को अच्छे स्वास्थ्य, शिक्षा और धन से लैस करने के साथ ही सभी में आत्म निर्भरता और आत्मविश्वास लाने का संकल्प लिया है। यह गरीब, पिछड़े, असहाय लोगों के लिए मुफ्त इलाज-दवायें, बच्चों को मुफ्त शिक्षा, युवाओं को रोजगार किसानों को ठोस आमदनी, और आयुर्वेद व सनातन को उसका मूल स्वरूप दिलाने के लिए प्रयासरत है। यह संस्थान पिछले 15 से अधिक वर्षों से भारत के बदलाव की वृहद रेखा खींच रहा है।

स्वास्थ के बारे में

  • प्रमुख समस्याएं
  • प्रमुख कारण
  • विज्ञान
  • चिकित्सा
  • सर्वश्रेष्ठ नियम
  • आरोग्यम आपको प्रदान करता है
  • - किडनी रोग
  • - डायबिटीज
  • - ह्रदय रोग
  • - अर्थराइटिस
  • - मोटा-
  • - तनाव
  • - व्यायाम में कमी
  • - तनाव
  • - धूम्रपान-शराब
  • - प्रदूषण
  • - फास- व पैकेज्ड फूड
  • - अंग्रेजी दवायें
  • - उचित पोषण
  • - नियमित व्यायाम
  • - पर्याप्त आराम
  • - विषहरण
  • - सकारात्मक-
एलोपैथ
  • - तकरीबन सभी ऐलोपैथिक दवाओं का मरीज पर साइड इफेक्ट पड़ता ही है
  • - ऐलोपैथ दवायें बीमारियों को सिर्फ नियंत्रित करती हैं, जड़ से नहीं मिटातीं
  • - मूल रोग को दबाकर कई अन्य बीमारियों को जन्म देती है
  • - ऐलोपैथ दवाओं के सेवन से किडनी, हार्ट,मधुमेह आदि बीमारियों का खतरा बढ़ता है।
  • - ऐलोपैथिक चिकित्सा अत्यंत महंगी है जो आर्थिक रूप से भी कमजोर करती है।
होम्योपैथिक
  • - सिर्फ सामान्य बीमारियों में ही उपयोगी
  • - आपातकीलीन स्थिति में कोई उपचार नहीं
  • - पोषण की कमी होने पर बिल्कुल भी प्रभावकारी नहीं
  • - होमियोपैथी चिकित्सा धीरे-धीरे काम करती है
  • - होमियोपैथी दवायें शुरूआत में रोग को बढ़ाती हैं
आयुर्वेद
  • - पांच साल पुरानी व सबसे विश्वसनीय चिकित्सा पद्दति
  • - आयुर्वेद औषधियों भारतीय जलवायु के अनुकूल हैं
  • - जीवन जीन का विज्ञान
  • - औषधियों का कोई दुष्प्रभाव नहीं
  • - रोग को जड़ से मिटाये
  • - सुबह खाली पेट तीन-चार ग्लास पानी पीयें
  • - भोजन के तुरंत बाद पानी न पीयें
  • - दिन भर में 10-15 गिलाास पानी पीयें
  • - सुबह नाश्ते में अंकुरित अनाज व स्वस्थ भोजन लें
  • - व्याय- योगा को अपने रूटीन में शामिल करें
  • - सप्ताह में एक दिन फलाहार या उपवास रखें
  • - शरीर को विषमुक्त करने के लिए छह महीने में एक      बार लीवर क्लिंज करायें
  • - सकारात्मक सोच पोषित करें, आध्यात्मिक पुस्तकें पढ़ें
  • - साल में एक बार पूरे शरीर की सीबीएस जांच अवश्य      करायें
  • - अच्छे आहार के लिए आयुर्वेद आधारित खाद्यपूरक        अपनायें
  • - आयुर्वेद का सर्वश्रेष्ठ
  • - विज्ञान का सर्वश्रेष्ठ

परियोजनाएं

हमारी उपलब्धियां

  • 2019
  • 2010
  • 2005
  • 2000
img

2019 Hospital Report

“Lorem ipsum dolor sit amet, ad vix fuisset assentior. Vim dicit lobortis molestiae no, maiorum postulant has ex. Hassingulis qualisque ut, delicata qualisque ei eum. Lorem dolor sit amet, ad vix fuisset assentior. Vim dicit molestiae ,postulant has ex. dicam singulis qualisque ut, delicata qualisque ei eum.

img

2010 Hospital Report

“Lorem ipsum dolor sit amet, ad vix fuisset assentior. Vim dicit lobortis molestiae no, maiorum postulant has ex. Hassingulis qualisque ut, delicata qualisque ei eum. Lorem dolor sit amet, ad vix fuisset assentior. Vim dicit molestiae ,postulant has ex. dicam singulis qualisque ut, delicata qualisque ei eum.

img

2005 Hospital Report

“Lorem ipsum dolor sit amet, ad vix fuisset assentior. Vim dicit lobortis molestiae no, maiorum postulant has ex. Hassingulis qualisque ut, delicata qualisque ei eum. Lorem dolor sit amet, ad vix fuisset assentior. Vim dicit molestiae ,postulant has ex. dicam singulis qualisque ut, delicata qualisque ei eum.

img

2000 Hospital Report

“Lorem ipsum dolor sit amet, ad vix fuisset assentior. Vim dicit lobortis molestiae no, maiorum postulant has ex. Hassingulis qualisque ut, delicata qualisque ei eum. Lorem dolor sit amet, ad vix fuisset assentior. Vim dicit molestiae ,postulant has ex. dicam singulis qualisque ut, delicata qualisque ei eum.

img
img
img
img

दान दाताओं की राय

दान क्यों करें

दान के फायदे

यह बहुत ही विचारणीय है कि भारत के हजारों धनवान व सामर्थ्यवान लोग धार्मिक कार्यों में और सरकार को तो खुशी से दान देते हैं लेकिन जरूरतमंदों और गरीबों की मदद करने की बात पर पीछे हट जाते हैं। यह वक्त पीछे हटने के नहीं बल्कि देश की अस्मिता और अस्तित्व को फिर से गौरवान्वित करने का है। आप भी उन हजारों लोगों की तरह आरोग्यं आयुर्वेद पीठ के साथ लाखों लोगों के जीवन को बदलने में अपनी जिम्मेदारी निभायें।

आप द्वारा आरोग्यं पीठ को दिये दान से दो तरह के फायदे होंगे

  • सामाजिक
  • व्यैक्तिक

सामाजिक

  • - आप द्वारा दिये दान से भारत में छोटे बच्चों की देखभाल, सुरक्षा और मानसिक एवं सामाजिक सहायता हो सकेगी।
  • - आपका दान जन सेवा के साथ ही गौसेवा के सपने को साकार करने में हमारी मदद करेगा।
  • - आपके दान से समाज के हर वर्ग के लोग सेहतमंद हो सकेंगे लोगों को बीमारियों से बचाने में मदद मिलेगी
  • - बड़ी संख्या में किसानों को रोजगार मिल सकेगा, किसानों की आय भी कई गुना बढ़ सकेगी।
  • - आरोग्यं आयुर्वेद पीठ सबड़े बड़ा सपना पूरा कर रहा है उन युवाओं का जो पढ़ लिखकर रोजगार से वंचित थे। आपके दान से लाखों युवाओं के लिए रोजगार का सृजन संभव हो सकेगा.
  • - आपके दान से परंपराओं की समृद्दि होगी, मिनी भारत का निर्माण हमारी संस्कृति को प्रकाश और हमारी भारतीयता को विश्व में मान मिलेगा।
  • - आप के दानन से उन युवाओं के लिए अपेक्षित गुणवत्तापरक शिक्षा के प्रावधान किए जा रहे , जो स्कूल छोड़ चुके हैं और संघर्ष तथा युद्ध की परिस्थितियों में आ गए हैं। उनका जीवन बदल सकेगा।

निजी

आपके दान का सबसे पहला फायदा यह होगा कि आप जो राशि दान करते हैं उसकी दोगुनी राशि आपके वॉयलेट में मिल जाती है। जिसका उपयोग आप आरोग्यम समूह में सेवा व उपचार के लिए कर सकते हैं।

  • - दान से आप को विश्व की उत्तम स्वास्थ व चिकित्सा सुविधा का लाभ मिलता है}
  • - खानपान जीवनशैली से जुड़े उत्पाद और कई तरह के लाभ भी आपको मिलता है|
  • - आयुर्वेद-योगा क्लब में शामिल होकर आप स्वास्थ का सर्वोत्तम पाते हैं|
  • - दान के अनुसार अब कुछ साल या आजीवन तक बिना पैसे खर्च किया जांच इलाज व दवाओं का लाभ पाते हैं।
  • - आपके साथ ही परिवार के लोगों को उत्तम स्वास्थ मिलता है|
  • - एजूकेशन, टूरिज्म, भोज्यम जैसे बड़े ब्रांड के उपयोग में भी आपको भारी लाभ होता है|