×
×

आरोग्यं आयुर्वेद पीठ

परिचय

आरोग्यम पीठ भारत की स्वास्थ शिक्षा और आर्थिक समृद्दि का द्योतक है। यह एक स्वतंत्र सामाजिक निकाय है, जिसकी स्थापना 2005 में हुई। पीठ ने प्रत्येक भारतीय को अच्छे स्वास्थ्य, शिक्षा और धन से लैस करने के साथ ही सभी में आत्म निर्भरता और आत्मविश्वास लाने का संकल्प लिया है। यह गरीब, पिछड़े, असहाय लोगों के लिए मुफ्त इलाज-दवायें, बच्चों को मुफ्त शिक्षा, युवाओं को रोजगार किसानों को ठोस आमदनी, और आयुर्वेद व सनातन को उसका मूल स्वरूप दिलाने के लिए प्रयासरत है। यह संस्थान पिछले 15 से अधिक वर्षों से भारत के बदलाव की वृहद रेखा खींच रहा है।

img

मिशन

आरोग्यं आयुर्वेद पीठ का मिशन पूरी दुनियां को स्वस्थ देखना व आयुर्वेद को घर-घर जन-जन तक पहुंचाना है।

img

विजन

भारत से बेरोजगारी कम करना और आयुर्वेद के प्रति लोगों को जागरूक करना

img

स्थापना एवं उद्देश्य


आरोग्यं आयुर्वेद पीठ की स्थापना 26 नवंबर 2015 को बी.के. आरोग्म फाउंडेशन के तत्वाधान में हुई। आरोग्यं पीठ भारत की प्राचीन चिकित्सा पद्दति आयुर्वेद को समृद्दि बनाने. लोगों को स्वास्थ प्रदान करने और समाज के हर तबके को मजबूत बनाने की दिशा में काम कर रहा है।

आरोग्यं पीठ का व्यापक कार्य


  • जन-जन की स्वास्थ समृद्दि
  • स्वास्थ के प्रति लोगों को जागरूक करना
  • आयुर्वेद चिकित्सा को बढ़ावा देना
  • ऐलोपैथ से होने वाले दुष्प्रभाव से लोगों को बचाना
  • भारत के गरीब पिछड़ों को ताकतवर बनाना
  • सबको शिक्षा सबको स्वास्थ की दिशा में काम करना
  • भारत में मेडिकल माफियाओं को रोकना
  • भारत की स्मिता प्राचीना को जीवंत करना
  • स्वास्थ को जीवन का आधार बनाना
  • किसानों को शक्तिशाली बनाना
  • हर्बल खेती की तरफ लोगों को ले जाना
  • पंचगव्य, और आयुर्वेद पर निरंतर शोध को बढ़ावा देना
  • देश में 40 लाख आयुर्वेद चिकित्सकों की फौज खड़ी करना
  • युवाओं को व्यापक स्तर पर रोजगार देना
  • वैदिक स्कूलों की स्थापना

सनातन संस्कृति का स्वरूप


आरोग्यं आयुर्वेद फाउंडेशन चिकित्सा शिक्षा रोजगार के साथ ही सनातन संस्कृति के स्वरूप को निरंतर सहेजने का काम कर रहा है। ऋषियों मनीषियों की धरती काशी से आयुर्वेद को विश्व में नई पहचान देने का संकल्प, धर्म-सिद्धान्तों के सार्वभौम आध्यात्मिक सत्य के विभिन्न पहलुओं पर अनुसंधान. अनादि काल से प्रवाहमान और विकासमान सनातन संस्कृति के स्वरूप को प्रबल करने पर लगतार आस्थावान है।

जन-जन का सहयोग


आरोग्यं आयुर्वेद पीठ आज भारतवासियों के लिए समृद्दि स्वाभिमान व सम्मान का द्योतक बन गया है। भारत और भारतीयों को फिर से उसकी गौरवमयी पहचान दिलाने के लिए लोग आगे आ रहे हैं। लाखों लोगों का सहयोग मिल रहा है आरोग्यं आयुर्वेद पीठ के संकल्प को पूरा करने के लिए। यह सहयोग भारतीय जनमानस के चहुंओर विकास का आधार बन रहा है।